शेयर बाजार में तेज गिरावट, सेंसेक्स 1145 अंक और निफ्टी 306 अंक टूटकर बंद

शेयर बाजार में तेज गिरावट, सेंसेक्स 1145 अंक और निफ्टी 306 अंक टूटकर बंद

शेयर बाजार में सोमवार को तेज गिरावट देखने को मिली है। बिकवाली के दबाव में दोपहर बाद के कारोबार के दौरान सेंसेक्स लुढ़ककर 50,000 के नीचे आ गया और निफ्टी ने भी 14,700 का अहम स्तर तोड़ दिया। महाराष्ट्र में कोरोना के बढ़ते मामलों और कुछ इलाकों में लॉकडाउन लगने और किसी सकारात्मक संकेत के न होने से निवेशकों ने मुनाफा निकालना बेहतर समझा । आज के कारोबार में सेंसेक्स 1145 अंक की गिरावट के साथ 49744 के स्तर पर और निफ्टी 306 अंक की गिरावट के साथ 14675 के स्तर पर बंद हुआ।

आज के कारोबार के दौरान सेंसेक्स 1273 अंक की गिरावट के साथ 49617 के निचले स्तर पर पहुंच गया। वही निफ्टी 346 अंक की गिरावट के साथ 14635 के निचले स्तरों पर पहुंच गया। आज मेटल सेक्टर को छोड़कर बाकी सभी सेक्टर इंडेक्स में तेज गिरावट रही है। मेटल सेक्टर इंडेक्स आज 1.6 प्रतिशत की बढ़त के साथ बंद हुआ। वहीं दूसरी तरफ ऑटो सेक्टर, आईटी सेक्टर, फार्मा सेक्टर और सरकारी बैंकों का सेक्टर 2 प्रतिशत से ज्यादा के नुकसान के साथ बंद हुआ है। निफ्टी पर आज 40 स्टॉक गिरावट के साथ बंद हुए हैं। इसमें से 30 स्टॉक्स को 2 प्रतिशत से ज्यादा का नुकसान उठाना पड़ा है।

क्यों आई बाजार में गिरावट
बाजार में गिरावट के लिए कई वजह जिम्मेदार रही हैं। इसमे महाराष्ट्र में कोरोना के बढ़ते मामलों के साथ नए प्रतिबंधों की आशंका, विदेशी बाजारों से मिले कमजोर संकेत, इस हफ्ते की एक्सपायरी और स्टॉक्स के ऊंचे स्तर प्रमुख हैं। बाजार में पिछले कुछ दिनों से गिरावट के संकेत दिख रहे थे। आज कमजोर संकेतों के बाद बाजार में तेज मुनाफावसूली हावी हो गई।

कोरोना के मामले फिर बढ़े, महाराष्ट्र में लॉकडाउन लौटा
कोरोन के मामलों में तेज गिरावट के बाद एक बाऱ फिर कोरोना के सक्रिय मामलों में बढ़त आने लगी है। बीते सात दिनों से लगातार नए मामलों की संख्या ठीक होने वालों के मुकाबले ज्यादा रही है। एक बार फिर एक्टिव केस 1.5 लाख के ऊपर पहुंच गए हैं। सबसे ज्यादा असर महाराष्ट्र में देखने को मिल रहा है। बीते एक दिन में यहा 7 हजार नए मामले सामने आए हैं, वहीं मुंबई में 1000 मामले सामने आए हैं। इसे देखते हुए अमरावती में एक हफ्ते का लॉकडाउन लगाया गया है। वहीं महाराष्ट्र में कार्यक्रमों को लेकर नए प्रतिबंध लगाए गए हैं।  नए प्रतिबंधों से निवेशकों की चिंता बढ़ी है, जिसके बाद ऊपरी स्तरों पर पहुंचे बाजार में मुनाफावसूली हावी हो गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *